SiGMA

अफ्रीका धीरे-धीरे हर पैमाने पर आईगेमिंग हब बनता जा रहा है

प्रकाशित किया गया जनवरी 13, 2023 17:18 श्रेणी: अफ्रीका , खेल सट्टेबाज़ी , नियामक , द्वारा अनुवाद किया गया Dhananjay Pachori

दुनिया भर में कुछ सकारात्मक जन्म दरों वाले क्षेत्रों में से एक होने के साथ, एक युवा केंद्रित अफ्रीका उभरती हुई नई तकनीकों को अच्छी तरह से अपना रहा है, जो इसे ऑनलाइन स्पोर्ट्स बेटिंग और गेमिंग का पावरहाउस बनने के लिए सबसे आगे ला रहा है।

हालांकि केन्या जैसे कुछ देश महत्त्व प्राप्त कर रहे हैं, हाल के वर्षों में उनके रेगुलेटरी विकास के लिए धन्यवाद, महाद्वीप के सभी चार शिरों पर देश एक मजबूत अफ्रीकी बाजार विकसित करने पर जोर दे रहे हैं।

दक्षिण में, दक्षिण अफ्रीका महाद्वीप तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था का दावा करता है। यह $2 बिलियन डॉलर के सकल गेमिंग राजस्व (GGR) में परिवर्तित होता है। यह इसे पूरे अफ्रीका में स्पोर्ट्स बेटिंग और जुए का सबसे बड़ा और सबसे महत्वपूर्ण केंद्र बनाता है।

दुनिया के कई प्रमुख सप्लायर्स दक्षिण अफ्रीका से उत्पन्न हुए हैं और अंततः उनने पूरे यूरोप, एशिया और यहां तक कि अमेरिका में अपने कार्यालय खोले हैं।

इस सफलता का श्रेय दक्षिण अफ्रीका में औसत से अधिक इंटरनेट प्रवेश दर को दिया जा सकता है। 68% की दर के साथ दक्षिण अफ्रीका को रेगुलेशन के मामले में अभी भी थोड़ा काम करने की आवश्यकता है, लेकिन लगातार बढ़ती गेमिंग अर्थव्यवस्था के साथ, भविष्य में तेजी से आगे बढ़ने की उम्मीद की जा सकती है।

अफ्रीका के पूर्व में, केन्या कई ऑनलाइन स्पोर्ट्स बेटिंग और गेमिंग ऑपरेटरों का घर बन गया है। हालांकि इंटरनेट प्रवेश दर 48% है, केन्या के 54 मिलियन निवासियों ने इंटरनेट कैफे के माध्यम से मोबाइल बेटिंग और पेमेंट की एक उपसंस्कृति विकसित की है।

जब रेगुलेशन की बात आती है तो केन्या ने सभी सीमाओं को लांघ दिया है। SportPesa, Betway और Mozzartbet जैसे ऑपरेटर केन्याई बाजार में अत्यधिक सक्रिय हैं। इसने स्थानीय अधिकारियों का ध्यान आकर्षित किया है और इसने बाजार के उचित रेगुलेशन को प्रेरित किया है।

यही कारण है कि केन्या 2022 में 466 मिलियन डॉलर के GGR अर्जित करने में कामयाब रहा है।

पश्चिमी शिरे पर, नाइजीरिया, घाना और कैमरून जैसे देशों ने $1,5 बिलियन से थोड़ा कम GGR की अर्जित किया है।

नाइजीरिया, इसका सबसे अधिक श्रेय युवा आबादी को देता है है, जिसके 43% निवासी 14 से कम उम्र के हैं और 53% 19 से 64 वर्ष के बीच के हैं।

यह कारक नाइजीरिया को अफ्रीका के दूसरे सबसे बड़े गेमिंग बाजार के रूप में आगे लाया है। नाइजीरिया में 70 मिलियन लोग इस क्षेत्र में सक्रिय हैं और इसके जल्द ही कम होने के कोई संकेत नहीं हैं।

घाना और कैमरून जैसे अन्य युवा देश भी अपने गेमिंग क्षेत्रों में विकास कर रहे हैं। यह मुख्य रूप से फुटबॉल और अन्य खेलों में उनकी सफलताओं से प्रेरित हुआ है।

अंत में, उत्तर में, मोरक्को ने सामने आया है और अपनी गेमिंग अर्थव्यवस्था को $500 मिलियन मजबूत करने में कामयाब रहा है। एक उद्योग के रूप में जुआ मोरक्को में व्यापक रूप से स्वीकार किया जाता है क्योंकि यह देश के युवा पर्यटन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

मोरक्को के यूरोप के साथ बहुत मजबूत संबंध हैं और फ्रांसीसी बाजारों तक उसकी पहुंच है और हालांकि ऑनलाइन बेटिंग को रेगुलेट नहीं किया जाता है, फिर भी देश से भुगतान स्वीकार किए जाते हैं।

अफ्रीका वर्तमान में एक विस्तार के नज़रिये का अनुभव कर रहा है जिसने महाद्वीप को गेमिंग उद्योग के भविष्य में धकेल दिया है। कई अफ्रीकी ऑपरेटर सीमाओं से बाहर विस्तार कर रहे हैं और हालांकि इस तरह की वृद्धि के साथ कई चुनौतियां आती हैं, लेकिन अफ्रीकी स्थिति को संभाल रहे हैं।

 

आईगेमिंग उद्योग पर नवीनतम समाचारों के लिए SiGMA समाचार पर जाएं

संबंधित पोस्ट

माल्टा रेगुलेटर ने DLT नीति…

माल्टा गेमिंग अथॉरिटी (MGA) ने अधिकृत पार्टियों द्वारा डिस्ट्रीब्यूटेड लेजर टेक्नोलॉजी के उपयोग पर एक नई नीति प्रकाशित की है।…

888 Holdings के CEO ने…

लंदन स्थित 888 Holdings ने घोषणा की है कि CEO Itai Pazner ने तत्काल प्रभाव से अपने पद से इस्तीफा…