कार्ड्स और उससे परे: भुगतान का भविष्य

Content Team एक वर्ष पहले
कार्ड्स और उससे परे: भुगतान का भविष्य

लेख JP Fabri द्वारा लिखा गया है; Insignia Cards के CEO, Seed के सह-संस्थापक पार्टनर।

भुगतान प्रणालियों को अक्सर हल्के में लिया जाता है और कम आंका जाता है। वर्तमान पीढ़ियों ने क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, ऑनलाइन भुगतान, मोबाइल फोन भुगतान, संपर्क रहित भुगतान और भुगतान के अन्य नवीन तरीकों का उदय देखा है। भुगतान सेवाएं प्रमुख दुकानों, विभिन्न उद्योगों की कंपनियों, बाजारों के संचालन और सरकार के अस्तित्व को सहारा देती हैं। भुगतान के अलावा समाज या व्यवसाय के लिए कोई अन्य बैंकिंग गतिविधि उतनी महत्वपूर्ण नहीं है। उपभोक्ताओं और व्यवसायों को समान रूप से आज अपने भुगतान के लिए बहुत अधिक उम्मीदें हैं।

टेक्नोलॉजी और रेगुलेशन भुगतान प्रणालियों में नवाचार ला रहे हैं और मूल्य के नए स्रोत उत्पन्न कर रहे हैं। ये परिवर्तन इतने महत्वपूर्ण हैं कि भविष्य के भुगतान बाजार का आज के बैंकिंग क्षेत्र और अन्य क्षेत्रों की संरचना पर भी गहरा प्रभाव पड़ेगा।

नई सेवाओं के निर्माण में रेगुलेटरी नवाचार एक प्रमुख प्रवर्तक है। हालाँकि, यह स्पष्ट है कि भुगतान सेवाओं में क्रांति सुनिश्चित करने के लिए अन्य कारकों के एक साथ आने की आवश्यकता है। इसमे शामिल हैं:

  • सरलता: नवाचार जो ग्राहकों को एक टैप में या स्वचालित रूप से कनेक्टिविटी का लाभ उठाकर भुगतान सेवाओं का उपयोग करने की अनुमति देता है।
  • इंटरऑपरेबिलिटी: अधिकांश नवीन भुगतान समाधान केवल एक भुगतान विधि तक सीमित नहीं हैं, जिससे ग्राहकों को विभिन्न विधियों जैसे क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड या बैंक अकाउंट का प्रबंधन करने और भुगतान के लिए उपयोग करने की अनुमति मिलती है।
  • मूल्य वर्धित सेवाएं: कई अभिनव समाधान, भुगतान के अलावा मूल्य वर्धित फंक्शन भी प्रदान करते हैं, जिससे व्यापारियों और वित्तीय संस्थानों को ग्राहकों के साथ अधिक निकटता से बातचीत करने और अतिरिक्त मूल्य प्रदान करने में मदद मिलती है।

उपभोक्ताओं की अपेक्षाएं: कहीं भी और कभी भी भुगतान करने की क्षमता।

उपभोक्ता चाहते हैं कि उनका भुगतान अनुभव सरल और सहज हो। आधुनिक भुगतान कार्ड उन्हें पूरी तरह से नए तरीकों से पैसे को उपयोग करने, ट्रांसफर करने और समझने में सक्षम बनाते हैं। भुगतान सुरक्षित, सरल और सहज होने चाहिए। उपभोक्ता यह भी उम्मीद करते हैं कि वे कभी भी और कहीं भी भुगतान कर करने में सक्षम हों: दुकानों में, बस में और ऑनलाइन स्टोर में।

व्यावसायिक ग्राहकों की अपेक्षाएँ: सुविधा और अनुपालन।

व्यवसाय भी अपने भुगतान अनुभव में सुविधा, सुरक्षा और उपयोग में आसानी की मांग करते हैं। आधुनिक भुगतान कार्ड खर्च को प्रबंधित करने और कर्मचारियों की संतुष्टि बढ़ाने के नए तरीके प्रदान करते हैं। अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर के साथ भुगतान को एकीकृत करने से समय की बचत होती है। उपभोक्ताओं की तरह, व्यवसाय भी समय और स्थान की परवाह किए बिना रीयल-टाइम भुगतान की अपेक्षा करते हैं।

हाइब्रिड ग्राहक: सभी भुगतान एक कार्ड से करते हैं।

कुछ बैंक व्यावसायिक और उपभोक्ता ग्राहकों को सख्ती से अलग मानते हैं। एक ग्राहक एक ही बैंक में एक ही समय में एक व्यावसायिक ग्राहक और उपभोक्ता ग्राहक दोनों हो सकता है। यह अक्सर आय के कई स्रोतों वाले फ्रीलांसरों के मामले में होता है। समस्याएँ उत्पन्न हो सकती हैं यदि इस प्रकार के “हाइब्रिड ग्राहक” के लिए एक ही बैंक में दो या दो से अधिक कार्ड होना अनिवार्य किया जाए। हाइब्रिड ग्राहक और भी अधिक प्रतिरोध रहित, सहज और सरल भुगतान की अपेक्षा करते हैं। वे केवल एक सर्विस, एक कार्ड और एक पहचान के साथ सब कुछ चलाने में सक्षम होना चाह सकते हैं।

भविष्य अब आ चुका है।

ग्राहकों की मांग की अपेक्षाओं के साथ-साथ भुगतान विकसित होते रहते हैं। इसके अतिरिक्त, कोविड-19 महामारी ने ग्राहकों के व्यवहार और प्राथमिकताओं को प्रभावित किया है। यहां कुछ नई घटनाएं हैं जो भुगतान की दुनिया को आकार दे रही हैं।

हाइब्रिड ग्राहकों की अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए सुपर-एप्स।

हाइब्रिड ग्राहक एक ही भुगतान कार्ड के तहत व्यावसायिक और उपभोक्ता ग्राहकों के रूप में अपनी जरूरतों को जोड़ना चाह सकते हैं। नतीजतन, WeChat जैसे “सुपर-एप्स” उभर के आए हैं, जहां उपयोगकर्ता उनकी द्वारा प्रदान की गई सेवा के केंद्र में हैं। ट्रांसेक्शन(लेन-देन) और उपयोगकर्ता के अनुभव को सुगम बनाने के लिए साइन-इन और पहचान को सरलीकृत किया जाता है। अभी कुछ ही सुपर-ऐप मौजूद हैं, लेकिन भविष्य में और भी उभर के आ सकते हैं।

संपर्क रहित भुगतान और बायोमेट्रिक्स।

छोटी खरीद के लिए संपर्क रहित भुगतान कुछ समय के लिए भुगतानों के क्षेत्र में आम रहे हैं। कोविड-19 ने अधिक मूल्य की खरीदारी के लिए भी उनमें ग्राहकों की रुचि बढ़ाई है। इसका मतलब है कि नई सुरक्षा सुविधाओं की आवश्यकता हो सकती है। पिन कोड के बजाय, ग्राहक भौतिक संपर्क के बिना पहचान के विकल्पों की अपेक्षा कर सकते हैं। बायोमेट्रिक्स के माध्यम से मजबूत पहचान समाधान, जैसे फेस आईडी या फिंगरप्रिंट, व्यवहार्य समाधान हो सकते हैं।

टोकनयुक्त(टोकनाइज़्ड) भुगतानों का विस्तार हो रहा है।

डिजिटल वॉलेट के माध्यम से वर्चुअल कार्ड और संपर्क रहित भुगतान नए डोमेन में विस्तारित होंगे। ऐसे क्षेत्र होम डिलीवरी और मोबिलिटी सेवाएं हो सकते हैं। जारीकर्ताओं(इंशुअर) को इन विकासों को अपने सर्विस डिज़ाइन में ध्यान में रखना चाहिए। इसका मतलब मल्टीमॉडल सब्सक्रिप्शन और ‘उपयोगानुसार भुगतान करने’ वाली सेवाओं के लिए पेशकश करना हो सकता है। टोकनाइजेशन भविष्य में हाइब्रिड ग्राहकों के लिए बेहतर ग्राहक अनुभव का निर्माण करने में मदद करेगा।

“अभी खरीदें बाद में भुगतान करें” और पॉइंट-ऑफ-सेल ऋण देने(लेंडिंग) से क्रेडिट कार्ड उद्योग प्रतिस्थापित होगा।

उभरती फिनटेक कंपनियों को धन्यवाद, विभिन्न क्रेडिट समाधान हर जगह उपलब्ध हो गए हैं। उनमें से कुछ ई-कॉमर्स खरीदारी यात्रा में मूल रूप से निर्मित किए गए हैं। इच्छुक जारीकर्ताओं(इंशुअर) को यह आकलन करना चाहिए कि क्या ऐसी ऐड-ऑन सेवाओं की उनके ग्राहकों के बीच मांग है। इससे उन्हें यह सुनिश्चित करने में मदद मिलती है कि उनके प्लेटफॉर्म को उनके लिए कॉन्फ़िगर किया जा सकता है। उदाहरण के लिए “अभी खरीदें बाद में भुगतान करें” वाले फीचर वाले भुगतान, टर्मिनलों के लिए एक सामान्य फीचर बन सकती है।

क्लोज़्ड लूप प्रसंस्करण में नवाचार।

इस घटना ने Facebook, Apple और Google जैसी बड़ी तकनीकी कंपनियों को अपनी भुगतान पेशकश का विस्तार करने के लिए मजबूर कर दिया है। उपभोक्ताओं पर केंद्रित वॉलेट के अलावा, जैसे Apple Pay, अब वे व्यापारियों के लिए लक्षित सेवाएं भी प्रदान करते हैं। वे ऐप-आधारित संपर्क रहित भुगतान सक्षम करते हैं, जिसके लिए अतिरिक्त भुगतान हार्डवेयर की आवश्यकता नहीं होती है।

चीनी भुगतान इकोसिस्टम का उदय।

ऐसी भुगतान प्रणालियों में Alipay और WeChat Pay जैसे खिलाड़ी शामिल हैं। वे तेजी से वैश्विक भुगतान विधियों और एम्बेडेड ईकामर्स एप्लिकेशन इकोसिस्टम में एकीकृत हो रहे हैं। जब वैश्विक ई-कॉमर्स और मनी ट्रांसफर क्षमताओं की बात आती है तो यूरोपीय प्रोसेसर उन्हें अधिक प्रमुख के रूप में देखते हैं।

कार्ड भुगतान से परे – ओपन बैंकिंग।

कार्ड द्वारा लेनदेन(ट्रांसेक्शन) परंपरागत रूप से प्रमुख भुगतान पद्धति रही है। लंबे समय से, वे वैश्विक, रियल टाइम और सीमा पार लेनदेन के लिए एकमात्र विकल्प रहे हैं। हाल ही में, ओपन बैंकिंग ने टॉप-अप और अकाउंट-टू-अकाउंट भुगतान के लिए नए रास्ते खोले हैं। जारीकर्ताओं(इशुअर) को लचीला होना चाहिए और उपभोक्ताओं को सर्वोत्तम भुगतान विधियों का चयन करने में सक्षम बनाना चाहिए।

मानव गतिशीलता में वृद्धि।

यह घटना भविष्य में मूल रूप से भुगतान को परिवर्तित कर सकती है। यूरोपीय संघ के निर्देश सदस्य देशों के बीच उच्च गतिशीलता को बढ़ावा दे रहे हैं। कई देशों में विदेशी कर्मचारियों की मांग बढ़ रही है। महामारी के कारण देशों के भीतर गतिशीलता भी अप्रत्याशित तरीके से बदल रही है। रिमोट कार्य करने की संभावनाओं के कारण बहुत से लोग शहरों से दूर जा रहे हैं और अपने गर्मियों के घरों से काम कर रहे हैं। “नई सामान्य स्थिति” के हिस्से के रूप में, बढ़ी हुई मानव गतिशीलता भुगतान की गतिशीलता के लिए आवश्यकताओं को भी निर्धारित करती है – पैसे को लोगों के पीछे आना चाहिए, न कि इसके विपरीत।

1950 के दशक में कार्डों की शुरुआत के बाद से भुगतान सेवाएं विकसित हो रही हैं। जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी और रेगुलेटरी नवाचार गति पकड़ रहे हैं, हम भुगतान सेवाओं में क्रांति की कगार पर हैं, जो बैंकों और अन्य क्षेत्रों को बदल के रख देंगे।

एक कार्ड जारी करने वाली कंपनी के रूप में, हम उपभोक्ता और कॉर्पोरेट ग्राहक को आधुनिक कार्ड-आधारित उत्पाद प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित करते हैं।

Share it :

Recommended for you
Jenny Ortiz
एक दिन पहले
Jenny Ortiz
एक दिन पहले
Jenny Ortiz
एक दिन पहले
Lea Hogg
एक दिन पहले